What Affiliate Marketing Is?
एफिलिएट मार्केटिंग क्या है?

             

What is affiliate marketing

 आसान शब्दों में एक विशिष्ट कंपनी के उत्पाद को बेचने के लिए इंटरनेट के उस उत्पादन के कुछ लिंक शेयर करना। जब भी कोई व्यक्ति आपके रेफरल से खरीदता है, तो कंपनी आपको एक कमीशन देगी। यह एक सरल प्रक्रिया है, आसानी से पैसा कमाने की तकनीक प्रतीत होती है।

             आइए एक उदाहरण से समझते हैं। मान लीजिए कि आप लिनोवा ब्रांड के लैपटॉप का प्रचार करते हैं, और आप अपने सोशल मीडिया हैंडल के माध्यम से उत्पाद का लिंक अन्य लोगों को शेयर कर सकते हैं। जब कोई व्यक्ति उस रेफरल पर क्लिक करता है, और उस को लैपटॉप खरीदता है, तो लिनोवा आपको हर बिक्री के लिए कुछ कमीशन का भुगतान करेगा।

How Affiliate Marketing Works?
एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करता है?

एफिलिएट मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का एक हिस्सा है। जब आप एफिलिएट मार्केटिंग करते हैं, तो आप एक ऑनलाइन विक्रेता की भूमिका निभाते हैं।   

          आप एक विशेष कंपनी के उत्पादों को बेचते है। लेकिन, आप उस कंपनी के कर्मचारी नहीं होंगे। जो व्यक्ति उत्पाद का मालिक होता है उसे व्यापारी (Trader or Merchant) कहा जाता है। दूसरी ओर, जो व्यक्ति इसे बढ़ावा देता है, उसे एफिलिएट मार्केटर कहा जाता है।

               आप सोच रहे होंगे कि आप ऑनलाइन व्यापारी (Trader or Merchant) के साथ कैसे जुड़ सकते हैं। तो आपको यह समझने की आवश्यकता है कि एफिलिएट नेटवर्क आपको ऑनलाइन व्यापारी से जुड़ने में मदद करता हैं।

          जब भी कोई आपके रेफरल से प्रोडक्ट खरीदता है, तो यह आपके लिए, ऑनलाइन व्यापारी के लिए और एफिलिएट नेटवर्क के लिए एक जीत की स्थिति होती है।

               आजकल भारत में एफिलिएट मार्केटिंग क्यों ट्रेंड कर रहा है? इसका कारण यह है कि इस पूरे इकोसिस्टम से जुड़े हुए बहुत से लोगों और व्यापारियों को बहुत बड़ा लाभ मिलता है। ऑनलाइन मार्केटिंग की बहुत बड़ी विशेषता है कि एक सामान्य गरीब व्यक्ति भी करोड़पति बन सकता है।

            एफिलिएट मार्केटिंग की चार प्रमुख कड़ियां हैं। इनके बारे में विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं। यदि आप एक सफल एफिलिएट मार्केटर बनना चाहते हैं तो यह बहुत ही महत्वपूर्ण है।

1. Trader or Merchant
उत्पाद या मालिक 

            प्रोडक्ट या उत्पाद के मालिक को व्यापारी कहा जाता है। ई-कॉमर्स वेबसाइट जैसे अमेजन, इबे, फ्लिपकार्ट आदि के बारे में बात करें तो ये व्यापारियों की श्रेणी में आते हैं।

            सैमसंग, एप्पल, लिनोवा, इंटेक्स, डेल, एच पी आदि जैसे ब्रांड भी व्यापारी हैं।

2. Affiliate
एफिलिएट 

             दूसरे में एफिलिएट मार्केटर आता हैं, जिसे पब्लिशर भी कह सकते है। एफिलिएट वह है जो हर बिक्री के लिए अपने रेफरल के माध्यम से कमीशन प्राप्त करता है। किसी की कॉमर्स वेबसाइट पर आपको एफिलिएट मार्केटर के रूप में रजिस्ट्रेशन करना होता है फिर वहां से आप प्रोडक्ट के एफिलिएट लिंक तैयार करके आप अपने सोशल मीडिया हैंडल या अपने ब्लॉग पर या वीडियो के रूप में यूट्यूब या किसी वीडियो प्लेटफार्म पर शेयर करके अच्छी खासी इनकम जनरेट कर सकते हैं। आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण सलाह यह है कि आपको उन उत्पादों को बढ़ावा देना होगा, जो आपके ब्लाग पर आपके द्वारा पोस्ट किए कॉन्टेंट या वीडियो आदि के अनुसार हों। यदि आप अपने ब्लॉग पर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल या वीडियो पोस्ट करते हैं।तो आपको वहां पर एजुकेशन से संबंधित प्रोडक्ट के एफिलिएट लिंक शेयर करने होंगे। ना कि किसी कॉस्मेटिक या फैशन के। यह अनुचित होगा।

              सोशल मीडिया, ब्लॉग और वीडियो पोस्ट कर के आप आसानी से प्रोडक्ट/उत्पाद को बढ़ावा दे सकते हैं।

3. Affiliate Network
 एफिलिएट नेटवर्क 

                पब्लिशर या एफिलिएट मार्केटर  एक एफिलिएट नेटवर्क की मदद से  किसी उत्पाद या व्यापारी (Trader or Merchant) से जुड़ सकता है।

           एक एफिलिएट नेटवर्क को एफिलिएट मार्केटर और व्यापारी के बीच की कड़ी के रूप में बेहतर समझा जा सकता है।

                    यहां पर समझना भी महत्वपूर्ण है कि एफिलिएट नेटवर्क प्रकार का टूल है, जो एफिलिएट मार्केटर को भुगतान प्रदान करता है।

       वही दूसरी ओर एफिलिएट नेटवर्क व्यापारियों के लिए विज्ञापन ट्रैकिंग टूल प्रदान करता है।

       यदि आप यह जानना चाहते हैं एफिलिएट नेटवर्क आपको पैसे कमाने में कैसे मदद करता है। तो आपको यह समझने की आवश्यकता है कि सीपीसी नाम की कोई चीज है।

CPC (कॉस्ट प्रति क्लिक) 

CPI (कॉस्ट प्रति इंस्टॉल) और 

CPS (कॉस्ट प्रति सेल) जैसे और भी अन्य तरीके हैं।

4. Consumers
ग्राहक या उपभोक्ता

इस पूरे तंत्र का अंतिम और चौथी कड़ी ग्राहक होता है। उपर की तीन कड़ियों को केवल तभी मुनाफा मिल पाएगा जब ग्राहक प्रोडक्ट खरीदेंगे। किसी विशेष उत्पाद को बेचने के लिए ग्राहकों को प्रभावित करना एफिलिएट मार्केटर की जिम्मेदारी है।


एफिलिएट मार्केटिंग कहाँ से शुरू करें?

यदि आप सहबद्ध विपणन शुरू करना चाहते हैं, तो इन सरल चरणों से गुजरें।

1. Signing up for an Affiliate Program
 एक संबद्ध कार्यक्रम के लिए साइन अप करना

       सबसे पहले, एक एफिलिएट मार्केटिंग या पब्लिशर बनने के लिए, एक एफिलिएट बाज़ार कार्यक्रम के लिए साइन अप करना आवश्यक है।

           कुछ विकल्प जो शुरुआत से ही अच्छा काम करते हैं, वे हैं अमेजन, बिगरॉक, फ्लिपकार्ट  आदि।

            इस तरह के बड़े एफिलिएट प्रोग्राम की सिफारिश की जाती है, क्योंकि उनके पास पहले से ही बड़ी संख्या में ग्राहकों जाल है।


2.Affiliate Link
 एफिलिएट लिंक 

              विशेष रूप से आपके द्वारा रेफर प्रोडक्ट/उत्पाद से संबंधित आपकी रेफरल आईडी से एक एफिलिएट लिंक बनाया जाता है।


3. Influencing Potential Customers
संभावित ग्राहकों को प्रभावित

संभावित ग्राहकों को प्रभावित करते हुए अब विभिन्न सोशियल मीडिया या ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से एफिलिएट लिंक के द्वारा प्रोडक्ट का प्रचार करना होगा। यहां पर आपके लिए व्हाट्सएप, फेसबुक, लिंक्डइन, पिंटरेस्ट, इंस्टाग्राम पोस्ट आदि फायदेमंद हो सकते हैं।

            बस इतना सा करके आप आसानी से खुद को एक सफल एफिलिएट मार्केटर के रूप में स्थापित कर सकते हैं।

1.Choosing the most profitable niche
लाभदायक निच का चुनाव

सबसे अधिक लाभदायक निच (Niches) चुनने से आपको यह समझने की जरूरत है कि सबसे लाभदायक niches अलग-अलग समय पर अलग-अलग हो सकते हैं। हमेशा अपडेट रहने से आपको इसके बारे में भी जानकारी हो जाएगी।

        इसके अलावा, किसी विशेष निज को चुनना बहुत महत्वपूर्ण है, ताकि आप अधिक कमीशन के लिए किसी विशेष दर्शक को लक्षित कर सकें।

      अपने ब्लॉग पोस्ट के साथ, आप न केवल अपने दर्शकों के लिए उपयोगी सामग्री वितरित कर सकते हैं, बल्कि एक रेफरल की मदद से कुछ प्रोडक्ट को खरीदने के लिए उन्हें बढ़ावा भी दे सकते हैं।

           सबसे अधिक लाभकारी निचे में से कुछ में बहुत सारे स्कोप हैं जो सौंदर्य उद्योग, स्वास्थ्य और कल्याण उद्योग, यात्रा, साहसिक खेल आदि हैं।


2. Choosing the right niche for your blog posts
अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए सही जगह चुनना

                आप में से कुछ सोच रहे होंगे कि वास्तव में निच (Niches) क्या है? तो, मान लीजिए कि यदि आपको सौंदर्य से संबंधित उत्पादों के बारे में बहुत अधिक ज्ञान है या मूल रूप से यदि सौंदर्य आपका उद्योग है, तो सौंदर्य उत्पाद आपका निच हो सकते हैं। आपको यह निश्चित करना होगा कि आपके निच में आपके दर्शकों की कितनी रुचि है। आपके दर्शकों को आपकी सिफारिशों पर भरोसा करने के लिए पर्याप्त है।

             एफिलिएट मार्केटर के रूप में सफल होने के लिए आपको इन सभी ऊपर बताए गए बातों का पालन करना होगा। याद रखें कि भारत में एफिलिएट मार्केटिंग के लिए अपार संभावनाएं हैं, जैसा कि बहुत कम ब्लॉगर कर रहे हैं। इसलिए यह शुरुआत करने का सही समय है।  कोई भी आपको एक लाभदायक एफिलिएट मार्केटर बनने से नहीं रोक सकता है। इसके अलावा, यह नवीनतम मार्केटिंग रणनीतियों और दीर्घकालिक योजना का अनुसरण करने से आपको बहुत मदद मिलेगी।

अपने ऑनलाइन बिजनेस को कैसे बढ़ाए?
How to do affiliate marketing?

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करते है?

English Translate

 What is affiliate marketing?
               In simple terms to share some links to that production of the Internet to sell a specific company's product. Whenever someone buys from your referral, the company will pay you a commission. It is a simple process, seems to be an easy money making technique.
              Let us understand by an example. Suppose you promote Linova brand laptops, and you can share the product link to other people through your social media handle. When someone clicks on that referral, and buys the laptop on it, Linova will pay you some commission for every sale.

 How does affiliate marketing work?

 Affiliate marketing is a part of digital marketing. When you do affiliate marketing, you play the role of an online seller.
           You sell the products of a particular company. But, you will not be an employee of that company. The person who owns the product is called Trader or Merchant. On the other hand, the person who promotes it is called Affiliate Marketer.
                You may be wondering how you can connect with online trader. So you need to understand that affiliate networks help you connect with online merchants.
           Whenever someone buys a product from your referral, it is a win-win situation for you, the online merchant and for the affiliate network.
                Why is affiliate marketing trending in India nowadays? The reason for this is that many people and traders associated with this entire ecosystem get huge benefits. The great feature of online marketing is that even a normal poor person can become a millionaire.
             There are four major links to affiliate marketing. Let's try to know about them in detail. This is very important if you want to become a successful affiliate marketer.

 1. Trader or Merchant

             The owner of the product or product is called a trader. Talking about e-commerce websites like Amazon, eBay, Flipkart etc., they fall under the category of merchants.
             Brands like Samsung, Apple, Linova, Intex, Dell, HP etc. are also merchants.

 2. Affiliate
 
              The second one comes with affiliate marketer, which can also be called publisher. The affiliate is the one who receives a commission for every sale through his referral. On someone's commerce website, you have to register as an affiliate marketer, then from there you create an affiliate link to the product, you can make a good income by sharing it on your social media handle or on your blog or as a video on YouTube or any video platform. Can generate. The most important advice for you is that you have to promote those products according to the content or videos you post on your blog. If you post an education related article or video on your blog, then you will have to share affiliate links to the education related product there. Not any cosmetic or fashion. It would be unfair.
               You can easily promote a product / product by posting social media, blogs and videos.

 3. Affiliate Network
 
                 A publisher or affiliate marketer can connect to a product or trader with the help of an affiliate network.
            An affiliate network can be better understood as the link between the affiliate marketer and the merchant.
                     It is also important to understand here that affiliate is a network type tool that provides payment to affiliate marketer.
        The Affiliate Network, on the other hand, provides ad tracking tools for merchants.
        If you want to know how affiliate network helps you to earn money. So you need to understand that there is something called CPC.
 CPC (cost per click)
 CPI (cost per install) and
 There are other methods like CPS (cost per cell).

 4. Consumer 

 The last and fourth link of this entire system is the customer. The above three episodes will only earn profits when customers buy the product. It is the responsibility of the affiliate marketer to influence customers to sell a particular product.

 Where to start affiliate marketing?
 If you want to start affiliate marketing, then go through these simple steps.

 1. Signing up for an Affiliate Program
  
        First of all, to become an affiliate marketer or publisher, it is necessary to sign up for an affiliate marketer program.
            Some options that work well from the beginning are Amazon, BigRock, Flipkart etc.
             Such large affiliate programs are recommended, as they already have a large number of client traps.

 2.Affiliate Link
  
               Specifically, you create an affiliate link with your referral ID related to the referral product / product.

 3. Influencing Potential Customers

         Affecting potential customers will now have to promote the product through affiliate links through various social media or online platforms. Here WhatsApp, Facebook, LinkedIn, Pintrest, Instagram posts etc. can be beneficial for you.
             By doing just that, you can easily establish yourself as a successful affiliate marketer.

 1.Choosing the most profitable niche

 By choosing the most profitable niches, you need to understand that the most profitable niches can vary at different times. You will also get to know about this by always being updated.
         Also, it is very important to choose a particular person, so that you can target a particular audience for more commissions.
       With your blog posts, you can not only distribute useful content to your audience, but also promote them to purchase certain products with the help of a referral.
            Some of the most profitable below are many scopes which are beauty industry, health and wellness industry, travel, adventure sports etc.

 2. Choosing the right niche for your blog posts
 
                 Some of you may be wondering what exactly is Niches? So, suppose that if you have a lot of knowledge about beauty related products or basically if beauty is your industry, then beauty products can be your niche. You have to decide how much interest your audience has in your Nich. It is enough to make your audience trust your recommendations.
              To be successful as an affiliate marketer, you have to follow all these things mentioned above. Remember that there is immense potential for affiliate marketing in India, as very few bloggers are doing. So this is the right time to start. Nothing can stop you from becoming a profitable affiliate marketer. Furthermore, following this latest marketing strategies and long term planning will help you a lot.

Post a Comment

please do not any spam link in the comment box

नया पेज पुराने